जो इस द्वीप पर चला जाता है , समय से पहले की मौत, टापू के पास इंसानों का भटकना भी है मना, पीछे है खौफनाक सच्चाई |

ब्राजील के Ilha da Queimada Grande टापू पर किसी भी व्यक्ति का पैर रखना मना है। यहां तक सरकार ने लोगों के इसके आसपास न भटकने की भी सलाह दी। ब्राजील के शहर साओ पालो स्टेट के सैंटॉस के तट से करीब 90 मील की दूरी पर यह द्वीप अटलांटिक सागर में स्थित है। अब आप सोच रहे होंगे इतने खूबसूरत टापू पर जाने से लोगों को क्यों रोका जाता है, तो आईए हम आपको बतातें हैं इसके पीछे की खौफनाक सच्चाई। आईलैंड पर हैं ऐसे खतरे…

– ब्राजील सरकार के मुताबिक यह आईलैंड बेहद खतरनाक है। यहां किसी भी वक्त किसी की भी जान जा सकती है। रिपोर्ट्स के मुताबिक 130 एकड़ के इस टापू पर 4.5 लाख गोल्डन लांसहेड (Golden Lancehead) वाइपर सांप मौजूद हैं। जो दुनिया में सांपों की सबसे जहरीली प्रजाति मानी जाती है।

– इसका मतलब ये कि इस टापू पर हर स्क्वेयर मीटर पर आपको एक वाइपर सांप मिल जाएगा। ऐसे में यहां जिंदा रहना नामुमकिन है। एक्सपर्ट्स के अनुसार, इस प्रजाति के सांप ने जिसे भी काटा है, वो आज तक अस्पताल नहीं पहुंच पाए। इसके काटने से तुरंत मौत हो जाती है। यह पेड़ों पर भी चढ़कर घोंसलों और डालियों से चिडिय़ों का शिकार कर लेता है।

काटते ही गल जाता है मांस
ब्राजील में सर्पदंश से होने वाली 90 फीसदी मौतें गोल्डन लांसहेड के काटने से होती है। लाहा डा क्विमाडा ग्रैंड में यह सांप तेजी से पनपते हैं। आमतौर पर यह आधा मीटर से अधिक लंबा होता है। यह बेहद फुर्तीला और शक्तिशाली होता है। यह शरीर पर जहां काटता है, वहां का मांस पिघल जाता है। ब्राजील की नेवी ने स्नेक आइलैंड में लोगों के जाने पर प्रतिबंध लगाया है।

लाखों में बिकता है जहर
एक गोल्डन लांसहेड से 18 लाख रुपए का जहर : यह सांप दुनिया के बेहद दुर्लभ सांपों में से है। ब्लैक मार्केट में इसके जहर की बहुत मांग है। एक गोल्डन लांसहेड सर्प से करीब 18 लाख रुपए (30,000 अमेरिकी डॉलर) का जहर निकाला जाता है। इसके चलते ब्राजील के स्नकेलैंड से इन सांपों की स्मगलिंग का भी खतरा है।

659 total views, 0 views today

Author: AajTak7

Share This Post On

Submit a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *